Daily Calendar

Saturday, August 29, 2009

Jiski ARZU thi wo dilbar na mila
BARSO jiska intezar kiya wo PYAR na mila
Ajeeb khel h ye KISMAT ka
kisiko hum na MILE aur koi hume na mila,

Friday, August 28, 2009

आख़िर कब ले ले जान पता नही

जींद : हरयाणा में प्रशासन की नाक तले सैकड़ों अवैध वाहन आज बेखौफ सड़कों पर दौड़ रहे है। ये वाहन अब तक दर्जनों लोगों को अकाल मौत की नींद सुला चुके है। प्रशासन सब कुछ जानते हुए अनजान बना हुआ है। अवैध वाहन चालक तेज गति से अपने वाहनों को चलाते है। पुलिस प्रशासन सब कुछ जानते हुए भी अनजान बना हुआ है। हरयाणा में सैकड़ों की संख्या में चल रहे अवैध वाहन परिवहन विभाग को प्रतिमाह लाखों रुपये का चूना लग रहे हैं। इन वाहन मालिकों की रफ ड्राइविंग व ओवर अत्यधिक यात्रियों को ठूंसने के चलते यातायात व्यवस्था पूरी तरह से चरमराकर रह गई है। इस पर काबू पाने में जिला प्रशासन पूरी तरह से लाचार बना हुआ है। हरयाणा के अधिकतर जिलो के साथ-साथ जिले में मुख्य मार्गो जींद-कैथल, असंध, नरवाना, बरवाला, हांसी, जुलाना व सफीदों रूटों पर प्रतिदिन सैकड़ों मैक्सी कैब विभिन्न मार्गो पर राज्य परिवहन विभाग के समांतर यात्रियों को लाने ले जाने का काम में लगे हुए है। ताच्चुब की बात यह है कि इस सब के बावजूद भी प्रशासन इन पर नकेल लगाने में पूरी तरह से नाकाम साबित हो रहा है। मैक्सी कैब में यात्रा करने वाले यात्रियों की जान यात्रा के दौरान हमेशा जोखिम में बनी रहती है। इन वाहन चालकों की रफ ड्राइविंग व अत्यधिक यात्रियों को ठूंसने की प्रवृति के चलते प्रति वर्ष दर्जनों यात्रियों को अपनी जान गंवानी पड़ती है। दुर्घटना के बाद कुछ समय तक तो पुलिस इन अवैध वाहनों के विरुद्ध कड़ा रुख अपनाती नजर आती है, परन्तु इसके बाद समय के साथ पुलिस की कार्यवाही भी कहीं अंधेरे में खोकर रह जाती है। इससे यातायात व्यवस्था फिर से पुराने रुटीन पर खड़ी दिखाई देती है। इससे इन वाहन मालिकों के हौसले फिर से आसमान को छूने लग जाते है तथा वाहन मालिकों के इसी प्रक्रिया के चलते सड़कों पर फिर से मौतों का खेल शुरू हो जाता है। इस मामले में यदि यह कहा जाए तो गलत नहीं होगा कि विभिन्न मार्गो पर चल रही ये अवैध वाहन प्रशासन व पुलिस को ठेंगा दिखाते हुए बेलगाम चलते हुए लगातार यात्रियों की जान के साथ खिलवाड़ करने में लगे हुए है।

Wednesday, August 26, 2009

12 लाख हड़पने के आरोप में मामला दर्ज

महाराष्ट्र के पूना स्थित ख्याति प्राप्त शिक्षण संस्थान में दाखिला कराने के नाम पर एक महिला से लगभग बारह लाख रुपये हड़पने का मामला सामने आया है। महिला की शिकायत पर पुलिस ने राशि हड़पने वाले बाप-बेटा के खिलाफ धोखाधड़ी तथा जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस के अनुसार अर्बन इस्टेट निवासी प्रेम देवी ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह अपनी बेटी संध्या को मास्टर मैनेजमेंट कोर्स में दाखिला दिलाना चाहता थी। इसी दौरान उसकी मुलाकात गाव धनाना सोनीपत निवासी आरके जतिन तथा उसके बेटे विजय जतिन से हुई। बातचीत में दोनों ने उसे बताया कि पूना में ख्याति प्राप्त शिक्षण संस्थान है। उसकी मैनेजमेंट में उसकी अच्छी पकड़ है। वे उसकी बेटी का दाखिला उस संस्थान में करवा सकते है। दाखिला करवाने की एवज में उसे लगभग बारह लाख रुपये डोनेशन के रूप में देने होंगे। 12 अप्रैल 2009 को आरके जतिन तथा उसके बेटे विजय ने उससे 11 लाख 70 हजार रुपये ले लिए। शुरू में दोनों काउंसिलिंग होने के बाद दाखिला का आश्वासन देते रहे। बाद में उस शिक्षण संस्थान की सभी सीटे फुल हो गई, लेकिन उसकी बेटी का दाखिला शिक्षण संस्थान में नहीं हुआ। दाखिला न होने पर जब उसने डोनेशन के रूप में ली गई राशि को वापस मागा तो उन्होंने राशि लौटाने से मना कर दिया और धमकी दी कि अगर पैसे मागने या शिकायत करने की कोशिश की तो उसका अंजाम बुरा होगा। पुलिस ने प्रेम की शिकायत पर आरके जतिन तथा उसके बेटे विजय के खिलाफ धोखाधड़ी तथा जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज किया है।

Monday, August 24, 2009

बस पर किया पथराव


जींद : हरयाणा के जींद जिले के सफीदों कसबे के पीर बाबा पर माथा टेकने आए श्रद्धालुओं की बस पर कुछ अज्ञात लोगों ने पथराव कर दिया, जिसमें बस के सारे शीशे टूट गए। उसके बाद उक्त लोगों ने बस में सो रहे बस के कंडक्टर व ड्राईवर की बुरी तरह से धुनाई कर डाली, जिसमें कंडक्टर व ड्राइवर घायल हो गया। दोनों घायलों को उपचार के लिए जींद के अस्पताल में लाया गया जहां हालत गंभीर देखकर घायलों को रोहतक रेफर कर दिया गया है। इस घटना की सूचना पुलिस को दे दी गई है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। जानकारी के अनुसार श्रद्धालुओं से भरी एक बस नंबर सीएच-03ई-2831 में सफीदों पीर बाबा पर माथा टेकने के लिए आई हुई थी। श्रद्धालु बस से उतरकर पीर बाबा के दरबार में जा चुके थे, जिसके बाद कुछ अज्ञात युवक आए और बस में सो रहे कंडक्टर सुशील व ड्राईवर सुरेश पर हमला कर दिया, जिससे वह बुरी तरह से घायल हो गए। जब उन्हे पीटने के बाद भी हमलावर शांत नहीं हुए तो बाद में हमलावरों ने बस पर पथराव कर दिया जिससे बस के सारे शीशे टूट गए। इस बारे में बस के मालिक मनदीप सिंह अंबाला वासी से फोन पर संपर्क साधा तो उन्होंने इस संदर्भ में कहा कि हर साल करीब 6-7 बसें श्रद्धालुओं की भरकर गूगा-मेड़ी, सफीदों व अन्य कई धार्मिक स्थानों पर माथा टेकने के लिए आती है। इसी प्रकार रविवार को भी सभी बसें गूगा-मेढ़ी व कई धार्मिक स्थानों से होकर सफीदों पहुंची थी, जिसके बाद रविवार रात करीब 11 बजे उन्हे सूचना मिली की उनकी बस पर पथराव कर दिया है और कंडक्टर व ड्राइवर के साथ मारपीट भी की गई है। सूचना पाते ही वह सफीदों पहुंचे और पुलिस में शिकायत की। उन्होंने बताया कि बस पर पथराव होने से उनको भारी नुकसान हुआ है। हमले के कारणों का उन्हे भी पूरी तरह से पता नहीं लग पाया है। समाचार लिखे जाने तक किसी भी व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज नही हो सका था।

Sunday, August 23, 2009

कबूतरबाजी के आरोप में दो नामजद

विदेश भेजने के नाम पर पांच लाख रुपये ठगने के मामले में पुलिस ने अदालत के आदेश पर दो लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। फिलहाल किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। पुलिस के अनुसार अर्बन इस्टेट निवासी संजीव ने अदालत में इस्तगासा दायर कर कहा था कि वह विदेश जाने का इच्छुक था। इसी दौरान उसकी मुलाकात दिल्ली के जीवन नगर महारानी बाग निवासी जीएस कपूर तथा एके जैन से हुई। दोनों ने बताया कि वे दिल्ली बिजली निगम में इंजीनियर है। विदेश मंत्रालय में उनकी अच्छी जान पहचान है और कई लोगों को विदेश में भेजकर उन्हे वहां पर नौकरी दिलवा चुके है। दोनों ने उसे विश्वास दिलाया कि वह उसका पासपोर्ट बनवाकर मनचाहे देश का वीजा लगवा देंगे और वहां पर उसकी नौकरी का भी प्रबंध कर देंगे। विदेश भेजने की एवज में उन्होंने एडवांस में उससे पांच लाख रुपये की मांग की। शेष राशि कार्य पूरा होने के बाद देने की बात कही। आठ दिसंबर 2008 को उसने अलेवा बस अड्डे पर दोनों को पांच लाख रुपये की राशि सौंप दी। कुछ समय इंतजार करने के पश्चात जब उसने दोनों से संपर्क किया तो शीघ्र ही पासपोर्ट बनने तथा वीजा लगने की प्रक्रिया जारी होने की बात कहकर उसे टालते रहे। जून 2009 तक वह लगातार इंतजार करता रहा। आखिरकार उसने दोनों से पांच लाख रुपये की राशि वापस लौटाने को कहा। शुरू में तो दोनों शीघ्र पैसा लौटाने की बात कहते रहे, लेकिन बाद में उन्होंने राशि देने से साफ मना कर दिया और धमकी दी कि अगर राशि मांगने की कोशिश की तो उसकी हत्या कर दी जाएगी। अदालत के आदेश पर अलेवा थाना पुलिस ने दिल्ली के जीवन नगर महारानी बाग निवासी जीएस कपूर तथा एके जैन के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

बस की चपेट मे आने से भाई-बहन मौत

जींद : मनोहरपुर बस अड्डे के पास रोडवेज बस की चपेट में आने से भाई-बहन की मौत हो गई। बस चालक का आरोप है कि छात्रों द्वारा हाथापाई करने के कारण वह बस से नियंत्रण खो बैठा और बस मोटरसाइकिल में जा भिड़ी। वहीं मारपीट की घटना से क्षुब्ध रोडवेज चालकों ने जींद बस अड्डे के गेट के बाहर बसें रोककर जाम लगा दिया, जिससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। महाप्रबंधक के आश्वासन के बाद ही चालकों ने जाम खोला। अर्बन इस्टेट निवासी शकुंतला अपने भाई सतपाल के साथ मोटरसाइकिल पर सवार होकर ढाठरथ गांव से शनिवार दोपहर जींद आ रही थी। मनोहरपुर गांव के बस अड्डे के पास सामने से आ रही रोडवेज बस ने मोटरसाइकिल को चपेट में ले लिया, जिससे शकुंतला की मौके पर ही मौत हो गई। सतपाल ने अस्पताल में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। समाचार लिखे जाने तक शवों के पोस्टमार्टम नहीं हो सके थे। वहीं रोडवेज बस के ड्राइवर सत्यवान ने बताया कि बस में उसके साथ कुछ छात्रों ने हाथापाई की, जिस कारण वह बस को संभाल न सका और बस मोटरसाइकिल में भिड़ गई। छात्रों द्वारा चालक से हाथापाई व दो लोगों की मौत की सूचना मिलने पर जींद बस अड्डे पर चालकों ने बसों को अड़ाकर जाम लगा दिया। रोडवेज कर्मचारियों ने जमकर नारेबाजी की तथा आरोपी छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। डिपो महाप्रबंधक एसएम खर्ब के आश्वासन के बाद ही कर्मचारियों ने जाम खोला।

Saturday, August 22, 2009

विदेश भेजने के नाम पर दो लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया

विदेश भेजने के नाम पर पांच लाख रुपये ठगने के मामले में पुलिस ने अदालत के आदेश पर दो लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। फिलहाल किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। पुलिस के अनुसार अर्बन इस्टेट निवासी संजीव ने अदालत में इस्तगासा दायर कर कहा था कि वह विदेश जाने का इच्छुक था। इसी दौरान उसकी मुलाकात दिल्ली के जीवन नगर महारानी बाग निवासी जीएस कपूर तथा एके जैन से हुई। दोनों ने बताया कि वे दिल्ली बिजली निगम में इंजीनियर है। विदेश मंत्रालय में उनकी अच्छी जान पहचान है और कई लोगों को विदेश में भेजकर उन्हे वहां पर नौकरी दिलवा चुके है। दोनों ने उसे विश्वास दिलाया कि वह उसका पासपोर्ट बनवाकर मनचाहे देश का वीजा लगवा देंगे और वहां पर उसकी नौकरी का भी प्रबंध कर देंगे। विदेश भेजने की एवज में उन्होंने एडवांस में उससे पांच लाख रुपये की मांग की। शेष राशि कार्य पूरा होने के बाद देने की बात कही। आठ दिसंबर 2008 को उसने अलेवा बस अड्डे पर दोनों को पांच लाख रुपये की राशि सौंप दी। कुछ समय इंतजार करने के पश्चात जब उसने दोनों से संपर्क किया तो शीघ्र ही पासपोर्ट बनने तथा वीजा लगने की प्रक्रिया जारी होने की बात कहकर उसे टालते रहे। जून 2009 तक वह लगातार इंतजार करता रहा। आखिरकार उसने दोनों से पांच लाख रुपये की राशि वापस लौटाने को कहा। शुरू में तो दोनों शीघ्र पैसा लौटाने की बात कहते रहे, लेकिन बाद में उन्होंने राशि देने से साफ मना कर दिया और धमकी दी कि अगर राशि मांगने की कोशिश की तो उसकी हत्या कर दी जाएगी। अदालत के आदेश पर अलेवा थाना पुलिस ने दिल्ली के जीवन नगर महारानी बाग निवासी जीएस कपूर तथा एके जैन के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Friday, August 21, 2009

पानी मे मिला शवः


जुलाना : जुलाना के दूर संचार विभाग के पास पानी मई एक अज्ञात आदमी का शवः बरामद हुआ है। फिलहाल उसकी पहचान नही हो सकी है। इसकी सुचना पुलिस को भी दी गई थी, लकिन लापरवाही के चलते काफी समय बाद भी पुलिस मूके पर नही पहुच सकी थी। शवः पड़ा होने के सुचना से ही लोगो मे सनसनी सी फ़ैल गई। समाचार लिखे जाने तक शवः की पहचान नही हो सकी थी और न ही पुलिस मूके पर पहुच सकी थी।

Wednesday, August 19, 2009

मंगल मुखियों को नही भाई सरकारी बधाई

जींद : एक मंगल मुखियों को नही भाई सा मन मे रखते हुए उन्हें समाज से जोड़ने का पर्यास कर रही तो दुश्री तरफ़ मंगल मुखी सरकारी योजनाओं का फायदा नही उठा पा रहे हैसरकारी अमले द्वारा प्रोत्साहित करने के बाद भी आज तक जिले मे किसी मंगल मुखी (किन्नर) ने सरकार द्वारा शुरू की गई पेंसन योजना का फायदा नही उठाया हैसरकारी पर्यास भी धरे के धरे रह गए हैऐसा नही है की सरकारी अमले ने इनसे संपर्क नही कियालकिन यह मंगल मुखी ख़ुद की इस योजना का फायदा नही लेना चाहते हैमंगल मुखियों के लिए सरकार द्वारा योजना शुरू किए एक साल से अधिक हो गया है, लकिन आज तक किसी जिले मे किसी मंगल मुखी ने इस योजना का फायदा नही उठाया हैइस बारे जब समाज कल्याण अधिकारी सत्यवान से बातचीत की गई तो उनका कहना था की मंगल मुखिको को पेंसन के लिए प्रोत्साहित किया गया, लकिन कोई योजना का फायदा लेना ही नही चाहता है

Sunday, August 2, 2009

मर चुकी है मान्विये संवेदना

जींद : हमारे समाज मे आज लगता है मान्विये संवेदना मर चुकी है, जिसका सीधा-सीधा उद्धरण आज उस समय देखने को मीला जब जोगिन्दर नगर के पास से जाने वाली रेलवे लाइन के पास एक १६ साल की युवती का गला घोटकर नगन अवस्था मे फेहंक रखा थायुवती के हाथ पर मिस पूजा लिख रखा हैजिस हालत मे युवती
की लाश मीली है, उससे ऐसा लगता है की युवती के साथ दुष्कर्म कर्क्के उसकी गला घोट कर हत्या कर रखी हैआस-पास के लोग भी बोलने को कुछ तैयार नही हैआज दिन निकलने के बाद किसी ने हिम्मत करके रेलवे पुलिस को इसीकी शुचना दीमन जा रहा है की युवती की हत्या रात के अंधेरेमई हुई होगीरेलवे पुलिस मृतका के परिजनों की तलास मे लगी हैफोरेंसिक टीम नै भी मोक्के का निरिक्षण कर लिया हैआब देखा है की यह कांड किसी प्रेम प्रसंग के चलते हुआ है यह फिर कोई और ही बात है