Daily Calendar

Sunday, June 17, 2012

बसों की कमी से जूझ रहे लोग

जींद : हरियाणा रोडवेज जींद डिपो में बसों की कमी लोगों के लिए परेशानी का सबब बनी हुई है। निर्धारित बेड़े से लगभग 60 बसें कम विभाग के पास हैं और आने वाले दिनों में यह समस्या ओर ज्यादा बढऩे वाली है, क्योंकि लगभग 20 बसें कंडम घोषित हो जाएंगी। उसके बाद मात्र 140 के आसपास बसों से ही परिवहन सेवा संचालित करनी होगी। फिलहाल नई बसों के आने की संभावना नहीं दिख रही है।
काबिल-ए-गौर है कि जींद डिपो बेड़े में नियमों के अनुसार 176 बसें होनी चाहिए जबकि बेड़े की 139 बसें ही ऑन रूट रहती हैं। इस समय रोडवेज के पास 25 से अधिक बसों की कमी चल रही है। इस कारण यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यहीं नहीं पिछले दिनों भी रोडवेज विभाग ने कम रिसीप्ट देने वाली कुछ बसों के रूट भी बंद करके अन्य रूटों पर चलाया था।
आने वाले दिनों में जिले के लोगों की समस्या बढऩे की संभावना है, क्योंकि आठ साल पूरे होने तथा सरकार द्वारा निर्धारित दस से बारह लाख किलोमीटर का सफर पूरा करने वाली 20 बसों को कंडम घोषित कर दिया जाएगा। 20 बसों के बेड़े से हट जाने के कारण यात्रियों तथा डिपो प्रबंधन को और परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। डिपो के पास इतनी बसों का ही स्टाफ है। कुछ समय पहले डिपो में 35 बसें नई आई थी, जिससे यात्रियों को भी काफी राहत मिली थी और डिपो की आमदनी भी बढ़ी थी।
----------------------------
रोडवेज को भी होगा आर्थिक नुकसान
रोडवेज बसों की कमी के चलते विभाग को भी आर्थिक नुकसान होगा और राजस्व में कमी होगी। बताया जा रहा है कि जून माह के अंत में जींद रोडवेज बेड़े से 20 बसें हटने जा रही हैं, जिनको विभाग द्वारा कंडम घोषित किया जा रहा है। इन बसों को कंडम घोषित करने के सभी प्रकार की औपचारिकताएं विभाग द्वारा पूरी कर ली गई हैं। बसों की संख्या कम होने से जींद डिपो को भी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ेगा। सूत्रों की माने तो बेड़े में बसों की संख्या कम होने पर कुछ बसों के रूट भी बंद किए जा सकते हैं।
----------------------------
वर्जन
जून माह के अंत में जींद बेड़े से बीस बसों को कंडम घोषित किया जाएगा। बसों के कंडम घोषित होने के बाद डिपो में बसों की संख्या 139 रह जाएगी जबकि नियमों के अनुसार डिपो में 176 बसें होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जितने बसें डिपो में उनसे ही काम चलाया जाएगा और। यात्रियों को परेशानी नहीं होने दी जाएगी।
खूबीराम कौशल, महाप्रबंधक, रोडवेज

No comments:

Post a Comment